खामोशियां चुपके से पुकार रही थी, मुझे शोर तालियों से स्वागत कर…

खामोशियां चुपके से पुकार रही थी,
मुझे शोर तालियों से स्वागत कर रहा था।

khamoshiyan chupke se pukar rahi thi,
mujhe shore taliyon se svagat kar raha thaa

Silences were secretly calling out,
welcoming me with noisy applause.

Share

Leave a Comment