प्रेम और आस्था दोनों पर ही किसी का जोर नहीं है, ये मन जहाँ लग..

प्रेम और आस्था दोनों पर ही
किसी का जोर नहीं है,
ये मन जहाँ लग जाए वहीं पर
भगवान नज़र आता है।

prem aur aastha donon par hi
kisi ka jor nahi hai,
ye man jahan lag jaye vahin par
bhagavan nazar aata hai

Both on love and faith.
No one insists,
Wherever this mind goes
God appears.

Share

Leave a Comment