बहुत हो चुका तेरा अब मेरी सुन, सब कुछ खोता जा रहा है, पागल है या

बहुत हो चुका तेरा अब मेरी सुन,
सब कुछ खोता जा रहा है,
पागल है या पागलपन का नाटक कर रहा है।

bahut ho chuka tera ab meri sun,
sab kuchh khota ja raha hai,
pagal hai ya pagalpan ka natak kar raha hai

Enough is enough, listen to me now,
everything is getting lost,
crazy or pretending to be crazy.

Share

Leave a Comment