ये दोस्ती का रिश्ता भी कितना अजीब होता है, दूरिया होते हुए भी दिल…

ये दोस्ती का रिश्ता भी कितना अजीब होता है…….
दूरिया होते हुए भी दिल कितने करीब होता है……..!!!
नही देखते हम रंग,जाति और हैसियत को क्यों की
ये सभी रिस्तो से ज़्यादा अजीज होता है……..!!!!!

ye dosti ka rishta bhi kitna ajeeb hota hai…….
dooriya hote hue bhi dil kitne karib hota hai……..!!!
nahi dekhte hum rang,jaati aur haisiyat ko kyon ki
ye sabhi risto se zyada aziz hota hai……..!!!!!

How strange is this relationship of friendship.
How close is the heart despite the distance!!!
We don’t see why we are color, caste and status.
It’s more important than all the relationships… !!!!!

Share

Leave a Comment