रौशनी के लिए दिया जलता हैं, शमा के लिए परवाना जलता हैं, कोई….

रौशनी के लिए दिया जलता हैं
शमा के लिए परवाना जलता हैं,
कोई दोस्त न हो तो दिल जलता हैं,
और दोस्त आप जैसा हो जो ज़माना जलता हैं.

roshni ke liye diya jalta hain ,
shama ke liye parwana jalta hain,
koi dost na ho to dil jalta hain,
aur dost aap jaisa ho jo zamana jalta hain.

Lamps are lit for light.
The license for Shama burns,
If there are no friends, the heart burns,
And friends are like you who burn the world.

Share

Leave a Comment